Garib Ki Kahaani | Shayari | Paisa Kahan Se Aaye | पैसा कहाँ से आये

Garibi Shayari_Paisa Kahan Se Aaye

कोई मुझे बताये..
पैसा कहाँ से आये
गरीब की आँखों में आंसू क्यों..
क्यों वो नीर बहाये
पैसा कहाँ से आये
पैसा कहाँ से आये

सुबह से शाम हो जाती..
वक्त नहीं है बीते
पल पल भारी लगता ..
जब हाथ रहते हैं रीते

सपने रहते उनकी आँखों में..
पूरे होने की आस में
मिट्टी के घरो में रहने वाले..
कैसे बचेंगे बरसात में

खुशियों की चादर महँगी..
खुशियाँ कहाँ से आये
पैसा कहाँ से आये
पैसा कहाँ से आये
कोई मुझे बताये..
पैसा कहाँ से आये
गरीब की आँखों में आंसू क्यों..
क्यों वो नीर बहाये
पैसा कहाँ से आये
पैसा कहाँ से आये

धूप और छाँव सी ज़िन्दगी..
कहीं सूखा कहीं हरियाली
कहीं दामन से गिरते मोती..
कहीं दामन रह जाए खाली

लकीरें हाथों में गहरी नहीं..
है नसीब से दूरी
किस्मत की बुलन्दी के लिए..
है तकदीर जरूरी

सूख जाते हैं आंसू भी उनके..
बंज़र जमीन ज़िंदगानी है
आँखों में बोझिल सपनों की दुनियाँ.
दर्द भरी ये कहानी है

हाथ क्यों आता नहीं कुछ उसके..
वो मेहनत पसीना बहाये…
पैसा कहाँ से आये
पैसा कहाँ से आये
कोई मुझे बताये..
पैसा कहाँ से आये
गरीब की आँखों में आंसू क्यों..
क्यों वो नीर बहाये
पैसा कहाँ से आये
पैसा कहाँ से आये

Geet Gazal Aur Shayari

Koi Mujhe Bataaye..
Paisa Kahan Se Aaye
Gareeb Ki Aankho Mei Aansu Kyon..
Kyon Wo Neer Bahaaye
Paisa Kahan Se Aaye
Paisa Kahan Se Aaye

Subah Se Shaam Ho Jaati..
Waqt Nahi Hai Beete
Pal Pal Bhaari Lagta ..
Jab Haath Rahte Hain Reete

Sapne Rahte Unki Aankho Mei..
Poore Hone Ki Aas Mei
Mitti Ke Gharo Mei Rahne Wale..
Kaise Bachenge Barsaat Mei

Khushiyon Ki Chaadar Mahangi..
Khushiyan Kahan Se Aaye
Koi Mujhe Bataaye..
Paisa Kahan Se Aaye
Gareeb Ki Aankho Mei Aansu Kyon..
Kyon Wo Neer Bahaaye
Paisa Kahan Se Aaye
Paisa Kahan Se Aaye

Dhoop Aur Chhaanv Si Zindagi..
Kahin Sookha Kahin Hariyaali
Kahin Daaman Se Girte Moti..
Kahin Daaman Rah Jaaye Khaali

Lakeerien Haatho Mei Gahri Nahi..
Hai Naseeb Se Doori
Kismet Ki Bulandi Ke Liye..
Hai Takdeer Jaroori

Sookh Jaate Hain Aansu Bhi Unke..
Banjar Jameen Zindgaani Hai
Aankho Mei Bojhil Sapno Ki Duniya..
Dard Bhari Ye Kahaani Hai

Haath Kyon Aata Nahi Kuchh Uske..
Wo Mehnat Paseena Bahaaye
Paisa Kahan Se Aaye
Paisa Kahan Se Aaye
Gareeb Ki Aankho Mei Aansu Kyon..
Kyon Wo Neer Bahaaye
Paisa Kahan Se Aaye
Paisa Kahan Se Aaye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *