आज सपने में देखा, एक प्यारी कविता

आज सपने में देखाजगह थी अनजान ..पर मेरे अपने खड़े हैंहर किसी ने हाथ खींच लिए ये कहकरकि ऐ दोस्त तेरे सपने बड़े हैं मैंने… Read More »आज सपने में देखा, एक प्यारी कविता