Garibi Shayari | Mitti Ki Diwaar Aur Baarish Ki Bochhaar | मिट्टी की दीवार और बारिश की बौछार

Garibi Shayari_Mitti Ki Diwaar Aur Baarish Ki Bochhaar

निहारता रहा मैं उसे..
जब मैंने उस बदनसीब को देखा
मिट्टी की दीवार और बारिश की बौछार..
ये सोचा मैंने जब उस गरीब को देखा

घर में छप्पर और साथ में..
पानी के गलियारे होंगे
प्यास कभी तो ज़िन्दगी सूखी..
कभी लहरों के धारे होंगे

बचपन में बचपन नहीं..
जवानी में बोझ होता
आज का दिन कैसे कटेगा..
मन में विचार यही रोज होता

कैसे बसर करता होगा..
कैसे दिन और रात होगी
काश कोई दिव्यास्त्र होता..
जिससे गरीबी की काट होती

क्यों इतनी देश गरीबी..
सभी चेहरे क्यों खिलते नहीं
उम्मीदों भरा आसमान उनका..
ज़ख्म इतने कि सिलते नहीं

भूख की आग बुझती नहीं..
बुझी बुझी सी राख है
दास्तान ज़िन्दगी की उदासी भरी..
गरीबी सच में अभिशाप है

सुने थे कभी देखे नहीं..
आज दुख़ भरे संगीत को देखा
मिट्टी की दीवार और बारिश की बौछार..
ये सोचा मैंने जब उस गरीब को देखा
निहारता रहा मैं उसे..
जब मैंने उस बदनसीब को देखा
मिट्टी की दीवार और बारिश की बौछार..
ये सोचा मैंने जब उस गरीब को देखा
ये सोचा मैंने जब उस गरीब को देखा

Garibi Shayari

Nihaarta Raha Main Use..
Jab Maine Us Badnaseeb Ko Dekha
Mitti Ki Diwaar Aur Baarish Ki Bochhaar..
Ye Socha Maine Jab Us Garib Ko Dekha

Ghar Mei Chhappar Aur Saath Mei..
Paani Ke Galiyaare Honge
Pyaas Kabhi To Zindagi Sookhi..
Kabhi Lehro Ke Dhaare Honge

Bachpan Mei Bachpan Nahi..
Jawaani Mei Bojh Hota
Aaj Ka Din Kaise Katega..
Mann Mei Vichaar Yahi Roj Hota

Kaise Basar Karta Hoga..
Kaise Din Aur Raat Hogi
Kaash Koi Divyastra Hota..
Jisse Garibi Ki Kaat Hoti

Kyon Itni Desh Gareebi..
Sabhi Chehre Kyon Khilte Nahi
Ummeedo Bhara Aasmaan Unka..
Jakhm Itne Ki Silte Nahi

Bhookh Ki Aag Bujhti Nahi
Bujhi Bujhi Si Raakh Hai
Daastaan Zindagi Ki Udaasi Bhari..
Garibi Sach Mei Abhishaap Hai

Sune The Kabhi Dekhe Nahi..
Aaj Dukh Bhare Sangeet Ko Dekha
Mitti Ki Diwaar Aur Baarish Ki Bochhaar..
Ye Socha Maine Jab Us Gareeb Ko Dekha
Nihaarta Raha Main Use..
Jab Maine Us Badnaseeb Ko Dekha
Mitti Ki Diwaar Aur Baarish Ki Bochhaar..
Ye Socha Maine Jab Us Gareeb Ko Dekha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *